कोरबा खबर

मेडिकल कॉलेज में खड़ी रहती है प्राइवेट एंबुलेंस, कार्यवाही के नाम पर प्रशासन मौन

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

कोरबा जिला अस्पताल अब मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बदल गया है ऐसे में यहां पर मल्टीस्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम होने के बावजूद भी कई प्राइवेट एंबुलेंस परिसर में खड़ी रहती है इन पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही होना समझ से परे है

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्राइवेट एंबुलेंस परिसर में खड़ी रहती है और उनका प्रतिनिधि अस्पताल में दिनभर मरीजों के संपर्क में रहता है और इलाज के लिए गुमराह कर निजी अस्पताल के ओर ले जाते है इससे मोटा कमीशन मिलता है

अस्पताल प्रबंधन को जानकारी होने के बाद भी कोई कार्यवाही नही की जाती है

एक अनुमान के मुताबिक मेडिकल कॉलेज अस्पताल में प्रतिदिन 650 से 700 ओपीडी पर्ची कटी जाती है अगर इसमें से भी 20 मरीज प्रतिदिन का औसत निकाला जाए तो 480 मरीज प्रति माह सरकारी अस्पताल से प्राइवेट अस्पताल की तरफ जाते है

सवाल यह है कि सरकारी अस्पताल में प्राइवेट एंबुलेंस की क्या आवश्यकता है

क्या मेडिकल अस्पताल की आड़ में कोई बड़ा खेल हो रहा है

प्राइवेट एंबुलेंस अस्पताल केंटीन के पीछे खड़ी रहती है,

Jitendra Dadsena

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button