कोरबा खबर

महापौर अब जाग जाओ, जनता जाग चुकी हैं कही जनता आप को न हटा दे : हितानंद अग्रवाल

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

कोरबा नगर निगम में फैली अवयवस्था को दूर करने लगातार नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल अपनी भूमिका निभाते आ रहे है चाहे वो सड़क की गुणवत्ता को लेकर हो, महापौर की कमीशन की भूख को शांत करने के लिए जनता से भीख मांग कर नेता प्रतिपक्ष के नेतृत्व में भाजपा पार्षदों ने महापौर को भेट किया था जिससे सड़क गुणवत्ता पूर्ण बने,
महापौर की निष्क्रियता के लिए और महापौर के बजट के लिए नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल ने महापौर के बजट को सदन में सबके सामने बेशर्म फूल की माला पहनाई,

सड़को के लिए 5000 स्ट्रीट लाइट का ऑर्डर किया गया था जिसे 18 माह बीत जाने के बाद भी कोई जानकारी नहीं दी जा रही है वार्डो में अंधेरा छाया हैं स्ट्रीट लाइट नही होने से पार्षद अपने वार्डो में नही लगवा पा रहे है जनता उन्हें भला बुरा बोलने को मजबूर है लेकिन महापौर अपने मंत्री की परिक्रमा में भूले रहते थे,

महापौर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए 30 पार्षदों ने हस्ताक्षर करके जिलाधीश को ज्ञापन सौपा था लेकिन उसपे प्रशासन ने कार्यवाही नही की, पुनः प्रशासन को सितंबर माह में स्मरण पत्र दिया गया था जिस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई अभी कुछ दिनों के मध्य में पुनः स्मरण पत्र दिया जायेगा और अविश्वास प्रस्ताव को पारित कराया जायेगा,
नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल ने मीडिया से चर्चा के दौरान बताया कि हमारे संपर्क में निर्दलीय और कांग्रेस के 18 पार्षद संपर्क में है जैसे ही अविश्वास प्रस्ताव पारित होगा भाजपा के महापौर आसीन होगा और वार्डो में विकास कार्य गति पकड़ेगा,
कोरबा नगर निगम का विकास 10 साल पीछे हो गया है जय सिंह अग्रवाल ने पहले अपनी धर्मपत्नी फिर अपने करीबी रबर स्टांप को महापौर बनाया और कोरबा का विकास को रोक दिया, महापौर के आड़ में मंत्री सिर्फ कमीशन लेने का कार्य करते थे

अविश्वास प्रताव के पारित होने के बाद कौन बनेगा महापौर के जवाब में हितानंद अग्रवाल ने बताया कि ओबीसी सीट है और पार्टी के हाई कमान से जो आदेश होगा उन्हें महापौर बनाया जायेगा,

Jitendra Dadsena

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button