कोरबा खबर

मसीह समाज के पदाधिकारीयो पर दर्ज FIR वापस ले सरकार, नही तो करेगें आन्दोलन: विजय मेश्राम

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

कोरबा :- बीते माह प्रदेश की राजधानी रायपुर में छत्तीसगढ़ युवा मंच के संस्थापक नरेंद्र भवानी के नेतृत्व में मसीह समाज के संघठनो के द्वारा संवैधानिक हक अधिकार न्याय आंदोलन का आयोजन किया गया था। आन्दोलन नरेंद्र भवानी के नेतृत्व में मसीह समाज के विरुद्ध हो रहे अत्याचार के खिलाफ़ किया गया था। आंदोलन का शुभारंभ तुता मैदान नवा रायपुर में प्रशासन की जानकारी व अनुमती पर शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित की गई थी। यह आयोजन संविधान में मिले अधिकार की मांग को लेकर रखी गई थी। पुलिस ने आंदोलन बाद मसीही पदाधिकारीयो के ऊपर FIR दर्ज कर दिया गया। आरोप था कि कार्यक्रम में उपस्थित लोगो द्वारा पुलिस कर्मी के साथ धक्का मुक्की व जबरन बेरीगेट तोड़ा गया है। कोरबा मसीह समाज के अनुयायी विजय मेश्राम ने मीडिया को बताया की पुलिस द्वारा दर्ज FIR सरासर झूठ है। सच्चाई यह है कि मसीह समाज के इस आक्रोश को देख ये भेद भाव वाली वर्तमान सरकार पूरी तरह से डर गई है और झूठा FIR दर्ज कर मसीह समाज की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है। जिसे हम कामयाब नही होने देंगे।

अक्रोशित मसीह समाज के लोगों ने कहा कि हमारा समाज डरने वाला नही है। वह संविधान के द्वारा दिए गए अपने अधिकार के लिए लड़ रहा है, और आगे भी लड़ेगा। पुलिस द्वारा किया गया FIR अगर समय पर वापस नही लिया गया तो मसीह समाज के द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसका जिम्मेदार सरकार खुद होगा।

वही नरेंद्र भवानी ने प्रेस नोट रिलीज कर बताया की समाचार के माध्यम से हमे जानकारी मिली की मसीही समाज या सर्व मसीही समाज द्वारा यह आंदोलन हुवा जिसके चलते हमारे समाज के धर्म गुरुओ के नाम पुलिस द्वारा एफ.आई.आर दर्ज किया गया है। यह बेहद शर्मनाक है- सच्चाई यह है कि यह आंदोलन छत्तीसगढ़ युवा मंच बैनर के तले आयोजित था जिसका संस्थापक मै स्वयं नरेन्द्र भवानी हु, बावजूद समाज के धर्म गुरुओ को ऐसे षड्यंत्र मे फसाकर उनके नाम से एफ.आई.आर करना ही साबित कर देता है की छत्तीसगढ़ पुलिस वास्तव मे कानून मजबूत करो बोलने वालों के खिलाफ ही मामला बना रही है। और जो हाथों मे डंडे हाथियार लिए कानून कि धज्जिया उड़ा रहें है उन्हें फ्री हिट देने का काम रायपुर पुलिस द्वारा किया जा रहा है।
उन्होंने यह भी कहा कि हम पुरे छत्तीसगढ़ से अपना मौलिक अधिकार माँगने आए थे और आते रहेंगे किसी से झूमा झपटी करने नहीं बावजूद हालात ऐसे बने कि हमें मंत्रालय कि ओर कुछ करना ही पड़ा, हम हमारे सुरक्षा के लिए राजधानी आए थे, हमारे लोगो को चर्च मे, घरों मे, शादी मे, जन्मदिवस के स्थल मे घुस- घुस कर मार रहें है, पिट रहें है ऊन पर कानूनी कार्यवाही करो कहने आए थे, बावजूद पुलिस द्वारा हमारे ही लोगो के ऊपर कार्यवाही करने से बिलकुल नहीं चुके’ भवानी ने इस कृत्य के बाद प्रदेश के पुलिस कर्मियों को बधाईया दी है और कहा की इतनी ही तत्परता से जो धर्म के नाम पर अपराध कर रहें है ऊन पर भी कार्यवाही करने का जज्बा दिखाते तो आज कानून वयवस्था इतनी कमजोर दिखाई नहीं पड़ता।

Jitendra Dadsena

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button