कोरबा खबरराजनीति

भाजपा की अंदरूनी कलह आयी सामने, मुख्य अतिथि बैनरों पोस्टरो से गायब, सभा स्थल में खाली रही कुर्सियां, भीड़ जुटाने में भाजपा नेता रहे असक्षम, क्या जिलाध्यक्ष गुटबाजी के प्रणेता है…. ?

भाजपा विरुद्ध भाजपा

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

कोरबा। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव करीब आते ही सियासी पारा चढ़ चुका है। एक दिन पहले कोरबा जिले में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक का गुरुवार को परिवर्तन यात्रा में कोरबा आगमन हुआ। जहां वे मुख्य वक्ता के रूप में एक आम सभा को संबोधित किए।

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के उद्देश्य से भाजपा ने परिवर्तन रैली निकाली है। परिवर्तन रैली हर जिले के हर विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर जनता से कांग्रेस सरकार को छत्तीसगढ़ से उखाड़ फेंकने अपील कर रही है।

इस कड़ी में भाजपा की परिवर्तन यात्रा कोरबा पहुंची इस परिवर्तन यात्रा में परिवर्तन के संकेत कम नजर आए, परंतु गुटबाजी पूरी तरह नजर आने लगी

कोरबा जिले के पाली तानाखार और कटघोरा में अभी प्रत्याशियों की घोषणा भाजपा ने नहीं की है परंतु उसके बाद भी परिवर्तन यात्रा की आम सभा में लोगो की मुख्य वक्ताओं को सुनने अच्छी खासी भीड़ रही, परंतु कोरबा विधानसभा में भाजपा ने प्रत्याशी की घोषणा कर दी है और प्रत्याशी ने भी यह बात कही कि वे जन बल के सहारे धनबल से चुनाव में जीत
हासिल करेंगे, परंतु परिवर्तन यात्रा के कोरबा विधानसभा में आते ही कोरबा विधानसभा में पिक्चर बदली नजर आने लगी। परिवर्तन यात्रा में भाजपा के दिग्गज उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम श्री बृजेश पाठक के साथ पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, वर्तमान नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, पुन्नू लाल मोहले ननकीराम कंवर के साथ घंटाघर ओपन ऑडिटोरियम में आयोजित आमसभा में पहुंची तो वहां अधिकांश कुर्सियां खाली रही। जिले के तमाम भाजपा के नेता मौजूद थे लेकिन इन्हें सुनने वाला कोई नहीं था ।

उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य के उपमुख्यमंत्री कोरबा विधानसभा में खाली कुर्सियों को देख चतुराई दिखाते हुए मंच पर ज्यादा समय व्यतीत नहीं किया और दो लाइन में अपनी बात खत्म कर लौट गए।

क्या कहा कांग्रेसी नेताओं ने…

भाजपा के परिवर्तन यात्रा के दौरान आयोजित आम सभा को देख कांग्रेसियों ने कहा की जनता का परिवर्तन यात्रा की सभा से किनारा करना इस बात का प्रमाण है कि उन्हें भाजपा के किसी भी तरह के हथकंडे में कोई दिलचस्पी नहीं है। फिर चाहे वह किसी भी बड़े नेता को यहां ले आएं। भाजपा अब कोरबा विधानसभा के साथ ही प्रदेश में अप्रासंगिक हो चुकी है।

प्रेस वार्ता में कहा जनता का मिल रह समर्थन और सभा से लोग नदारद

परिवर्तन यात्रा की सभा के पहले भाजपाइयों ने होटल महाराजा में प्रेस वार्ता का आयोजन किया। यहां यूपी के डिप्टी सीएम पाठक भाजपा के स्थानीय नेताओं द्वारा दिए गए पर्चा देखकर कह दिया कि छत्तीसगढ़ में लोग परिवर्तन यात्रा से जुड़ रहे हैं। इससे छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बन रही है उन्होंने यह भी कहा कि छत्तीसगढ़ में गरीब आदिवासी किसान का कोई सुनने वाला नहीं उन्होंने बताया कि रायगढ़ से कोरबा जिला आने तक सड़कों की दुर्दशा देखने को मिली जो पूरी तरह टूट चुके हैं उन्होंने यह भी कहा की प्रदेश में एक्सप्रेसवे क्यों नहीं बना प्रधानमंत्री ने गरीब कल्याण योजना भेजी लेकिन काम नहीं हुआ 16 लाख निशुल्क आवास नहीं बनाए गए इस प्रकार कई आरोप लगाए साथी श्री पाठक ने प्रेस वार्ता के जरिए अपील की की डबल इंजन की सरकार प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बनाएं उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों से जो धोखा इस सरकार ने किया किस कभी माफ नहीं करेंगे भाजपा की सरकार प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में किसने बेरोजगारों को मुख्य धारा में लाकर उनका विकास करेगी और लोगों का जीवन स्तर ऊंचा उठने के लिए गरीब कल्याण योजना को धरातल पर क्रियान्वित किया जाएगा

भाजपा के जिले के तमाम नेता मौजूद थे।

जिलाध्यक्ष ने प्रेस वार्ता में बड़ी-बड़ी बातें कहीं। परिवर्तन यात्रा से जनता के जोड़ने की बात की लेकिन इसके ठीक आधे घंटे बाद जब घंटाघर में सभा का आयोजन हुआ। तो ज्यादातर कुर्सियां खाली रह गई। गिनती के लोग ही सभा स्थल पर पहुंचे थे। भाजपा नेताओं के सामने खाली कुर्सियों को भाषण देने के अलावा कोई विकल्प मौजूद नहीं रह गया।

इससे भाजपा संगठन की चिंता बढ़ गई है। जिन विधानसभा क्षेत्र में अभी प्रत्याशी की घोषणा नहीं हुई है वहां भीड़ और जहां कोरबा विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशी की घोषणा होने के बाद भी भीड़ नहीं जुटा पाना भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं कहा जा सकता

कोरबा घंटाघर में आयोजित परिवर्तन यात्रा की आम सभा में भाजपा के दिग्गज नेताओं द्वारा भीड़ नहीं जुटा पाना, भाजपा में हावी होती गुट बाजी की ओर संकेत कर रही है कोरबा विधानसभा के 67 वार्डों में 30 वार्डों में भाजपा के पार्षद होने के बावजूद इस बड़े आम सभा के के लिए शुभ संकेत नहीं दिख रहा भाजपा के नेताओं द्वारा खराब मौसम और बरसात होने के कारण ऐसी स्थिति निर्मित होने की बात कही जा रही है,

बताया जा रहा है कि मुख्य अतिथि समय के अभाव होने के कारण से सभा को संबोधित करने के बाद निकल गए

लेकिन यह भाजपा के प्रत्याशी के सहज सरल स्वभाव व्यक्तित्व एवं जिनके पीछे कोरबा का एक बड़ा जनाधार होने के बावजूद इस प्रकार आयोजन का असफल होना कोरबा के भाजपा नेताओं पर प्रश्न वाचक चिन्ह लग रहा है भाजपा नेता यदि चुनाव तक गिले शिकवे भूल कर प्रत्याशी को जिताने में मदद करें और केवल पार्टी और कमल छाप निशान को याद करते हुए अपने समर्थकों के साथ थोड़ा सा सहयोग करें तो ऐसे तमाम तरह के आयोजन आसानी से सफल हो सकते हैं, और पार्टी का प्रत्याशी आसानी से चुनाव में जीत का परचम लहरा सकता है।

कोरबा भाजपा जिलाध्यक्ष नही निभा पा रहे अपनी जिम्मेदारी..

कोरबा भाजपा जिला अध्यक्ष कहीं ना कहीं आपसी तालमेल बिठाने में असक्षम साबित हो रहे हैं। गुरूवार को परिवर्तन यात्रा में आए उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक जो घंटाघर में आयोजित आमसभा में मुख्य अतिथि और मुख्य वक्ता रहे और प्रदेश के वरिष्ठ नेता धरमलाल कौशिक सहित तमाम नेता मौजूद रहे,

इस दौरान यह भी देखने को मिला की भारतीय जनता पार्टी जिला कोरबा द्वारा अखबारों में लगे विज्ञापनों में मुख्य अतिथि डिप्टी सीएम का चेहरा गायब रहने के साथ साथ कोरबा विधानसभा प्रत्याशी लखन लाल देवांगन का फोटो पासपोर्ट साइज का छोटा सा लगाया गया था, जिला संगठन की इस प्रकार की सोच और पक्षपात कहीं प्रत्याशी को नुकसान पहुंचाते हुए पार्टी की प्रदेश में सत्ता परिवर्तन करने के सपने पर फिर पानी न फेर दे।

Jitendra Dadsena

60% LikesVS
40% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button