कोरबा खबर

बालको के रक्तदान शिविर में लगभग 1000 रक्तदाताओं ने लिया हिस्सा।

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

बालको वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने जिला स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से बालको अस्पताल में एक मेगा रक्तदान शिविर का आयोजन किया। रक्तदान को बढ़ावा देने वाले अभियान में 1000 से अधिक समर्पित बालको कर्मचारियों और समुदाय के सदस्यों की भागीदारी निभायी जो निस्वार्थ भाव से रक्तदान करने और जीवन रक्षक कार्य के लिए एकजुट हुए। सभी के एकजुट प्रयास से कोरबा जिले में एक दिन में सबसे अधिक रिकॉर्ड 1000 यूनिट रक्तदान हुआ। रक्तदाताओं को उनके निस्वार्थ कार्य के लिए प्रमाणपत्र प्रदान किया गया।


विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर आयोजित एक दिवसीय मेगा रक्तदान शिविर को बालको अस्पताल और जिला स्वास्थ्य विभाग, कोरबा और बिलासपुर के डॉक्टरों और नर्सों की देखरेख में किया गया। समर्पित चिकित्सा कर्मचारियों ने शिविर के दौरान रक्त संग्रह के लिए सहायता प्रदान की तथा रक्तदान प्रक्रिया और इसके महत्व पर मार्गदर्शन भी दिया। शिविर में मानवता के परिणामस्वरूप बालको कर्मचारियों, व्यावसायिक साझेदारों, बालको टाउनशिप के निवासियों और समुदाय के लोगों द्वारा लगभग 1000 रक्त यूनिट का रक्तदान किया गया। सावधानीपूर्वक स्क्रीनिंग और जांच के बाद एकत्रित रक्त को कोरबा मेडिकल कॉलेज और छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, बिलासपुर के ब्लड बैंकों में संग्रहीत किया गया। थैलेसीमिया, सिकल सेल, कैंसर, सड़क यातायात दुर्घटनाओं, गर्भवती माताओं और हीमोफिलिया वाले व्यक्तियों के इलाज के लिए उनकी रक्त आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए निःशुल्क प्रदान की जाएंगी। छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (सिम्स) अन्य चिकित्सा सुविधाओं जैसे जिला अस्पताल, बिलासपुर, रेलवे अस्पताल, बिलासपुर, जन स्वास्थ्य सहयोग, गनियारी और जिला अस्पताल, मुंगेली में रक्त इकाइयों को वितरित करेगा।


बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक श्री राजेश कुमार ने कहा कि रक्तदान एक नेक काम है। रक्त की प्रत्येक यूनिट से दुर्घटना पीड़ितों, सर्जिकल रोगियों और जीवन-घातक बीमारियों से जूझ रहे लोगों को सहायता प्रदान किया जा सकता है। रक्तदान शिविर में कर्मचारियों और समुदायों द्वारा प्रदर्शित निःस्वार्थ भाव और उदारता सराहनीय है। कंपनी अपने विभिन्न स्वास्थ्य पहल से सामाजिक कल्याण को बढ़ावा देने और जीवन को बेहतर बनाने तथा समुदायों की भलाई को प्राथमिकता देने के लिए कटिबद्ध हैं। मेगा रक्तदान शिविर हमारे आसपास के लोगों के जीवन में सकारात्मक और सार्थक प्रभाव डालने की हमारी अटूट प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।
मेगा रक्तदान शिविर की सराहना करते हुए कोरबा के मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी श्री एस.एन. केसरी ने कहा कि एक दिन में 1000 यूनिट रक्तदान प्राप्त करने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य के साथ बालको द्वारा आयोजित रक्तदान की सराहना करता हूँ। बालको के इस सराहनीय प्रयास से कोरबा और बिलासपुर दोनों जिलों में रक्त की कमी को दूर करेगा जिससे कई जिंदगियां बचाई जा सकती है।
बालको का मेगा रक्तदान शिविर जीवनरक्षक रक्त इकाइयाँ एकत्र करने में सफल रहा है। बालको समुदाय की भलाई में योगदान देने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत पूरे वर्ष कई स्वास्थ्य कार्यक्रम आयोजित करता है जिसमें ग्रामीण स्वास्थ्य पोस्ट (आरएचपी) के माध्यम से इलाके में सर्वोत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कर रहा है। साथ ही एचआईवी, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य और कुपोषण जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर जागरूकता अभियान चलाता है। परियोजना से वित्तीय वर्ष में 30,248 लोग लाभान्वित हुए हैं। बालको अपने ‘चलित स्वास्थ्य इकाई’ (एमएचयू) के माध्यम से आसपास के क्षेत्र में ‘उपचार आपके दरवाजे’ थीम पर स्वास्थ्य सेवाओं को सुलभ बनाने के लिए लगातार काम कर रहा है। वित्तीय वर्ष में इससे 14,410 नागरिक लाभान्वित हो चुके हैं। बालको त्रैमासिक मेगा स्वास्थ्य शिविर और जागरूकता अभियान आयोजित करता है जो टीकाकरण, स्वच्छता प्रथाओं और समग्र स्वास्थ्य देखभाल को बढ़ावा देता है। नई किरण परियोजना के तहत बालको ने कोरबा के 45 गांवों में जागरूकता के माध्यम से 48,000 से अधिक लोगों को माहवारी के दौरान स्वच्छ प्रथाओं के बारे में जागरूक किया है। बालको मेडिकल सेंटर 170 बिस्तरों का अत्याधुनिक कैंसर उपचार केंद्र है। देश में कैंसर उपचार के क्षेत्र में यह अग्रणी केंद्र के रूप में स्थापित है। वर्ष 2018 में केंद्र के उद्घाटन के बाद लगभग 18000 पीड़ितों को विभिन्न विशेषज्ञों ने उपचार मुहैया कराए हैं। बालको के स्वास्थ्य पहलो से वित्तीय वर्ष 2023 में 1 लाख से अधिक लोगों को फायदा हुआ है।
बालको के 75 बिस्तरों के सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल ने अपने विशेषज्ञ चिकित्सकों की मदद से बालको अधिकारियों, कर्मचारियों, उनके परिवारजनों, ठेकाश्रमिकों और स्थानीय नागरिकों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों की पूर्ति पूरी दक्षता से की है। यहां पांच बिस्तरों वाला गहन चिकित्सा कक्ष मौजूद है जहां गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों का इलाज एमडी मेडिसिन की देखरेख में किया जाता है। विशेषज्ञों की एक टीम है जिसमें सामान्य चिकित्सक, फिजियोथेरेपिस्ट, दंत चिकित्सक, नेत्र रोग विशेषज्ञ, ईएनटी विशेषज्ञ, बाल रोग विशेषज्ञ, रेडियोलॉजिस्ट, एनेस्थेसियोलॉजिस्ट, स्त्री रोग विशेषज्ञ और आर्थोपेडिक सर्जन के अलावा 27 नर्सों और 80 सहायक कर्मचारियों के साथ बालको अस्पताल उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सेवाओं के प्रति कटिबद्ध है।
बालको अस्पताल हर साल छत्तीसगढ़ के कोरबा, रायगढ़, बिलासपुर और जांजगीर चांपा जिलों से 2,50,000 से अधिक मरीजों को सेवा प्रदान करता है। आयुष्मान भारत और राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के साथ ही सरकार द्वारा निर्धारित समस्त टीकाकरण कार्यक्रमों का अनुसरण बालको अस्पताल में किया जाता है।


Jitendra Dadsena

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button