अन्य खबर

दुर्गा पूजा, दशहरा, ईद-ए-मिलाद एवं दीपावली पर्व शांति पूर्वक मनाने शांति समिति की बैठक संपन्न

WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
WhatsApp Image 2024-03-09 at 21.00.10
previous arrow
next arrow
Shadow

कलेक्टर संजीव झा की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में दुर्गा उत्सव, दशहरा, ईद-ए-मिलाद एवं दीपावली पर्व को शांति और सौहार्द्र के साथ मनाये जाने के उद्देश्य से शांति समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में शामिल दुर्गा समितियों के सदस्यों, गणमान्य नागरिकों, दुर्गा पंडालों के प्रतिनिधियों सहित मुस्लिम समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ कलेक्टर झा ने सभी धार्मिक स्थलों के संचालन और दुर्गा पूजा के संबंध में विस्तृत चर्चा की। दुर्गा पूजा के दौरान दुर्गा पंडाल, अस्थायी स्वागत द्वार बनाने के लिए आयोजन समितियों को संबंधित अनुविभागीय अधिकारियों से अनुमति लेनी होगी। संबंधित थाना प्रभारी के द्वारा दुर्गा पंडालों, स्वागत द्वारो के निरीक्षण उपरांत रिपोर्ट के आधार पर अनुमति दिया जाएगा। बैठक में कलेक्टर झा ने कहा कि एनजीटी के द्वारा जारी गाइडलाईन के अनुसार दुर्गा पंडाल सड़कों में नही लगा सकेंगे। पर्व के दौरान उपयोग होने वाले डीजे आदि भी गाइडलाईन के अनुसार रात 10 बजे से 6 बजे तक प्रतिबंधित रहेंगे। साथ ही निर्धारित सीमा से अधिक आवाज में डीजे चलाने पर डीजे जप्ती की कार्रवाई प्रशासन द्वारा की जा सकेगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह, एसडीएम कोरबा हरिशंकर पैंकरा, स्वास्थ्य, विद्युत, पर्यावरण, राजस्व अधिकारियों सहित मानवाधिकार बोर्ड, अल्पसंख्यक विभाग, सुन्नी मुस्लिम जमात, जामा मस्जिद, स्टाफ क्वार्टर पूजा मण्डल, दुर्गा पूजा समिति, पटाखा संघ, वंदनीय मातृ समिति, मेमन समाज आदि के प्र्रमुख पदाधिकारी एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।
      कलेक्टर झा ने बैठक में नागरिकों से सोशल मीडिया का उपयोग सावधानी पूर्वक करने की अपील की। उन्होने पर्वो के दौरान एक दूसरे की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली सूचनाओं का आदान-प्रदान नही करने की अपील नागरिकों से की। पूर्व मे निर्धारित स्थानों पर ही पूजा करेंगे। नये स्थान पर पूजा नही करेंगे। कलेक्टर ने कहा कि दुर्गा विसर्जन निर्धारित रूट के अनुसार ही किया जाए। विसर्जन के दौरान कोई भी आम रास्ता बाधित न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। विसर्जन के दौरान वालेन्टियर भी रखना अनिवार्य होगा। संबंधित वालेन्टियर विसर्जन के दौरान शांति व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग करेंगे। पंडालों में बिजली व्यवस्था सुनियोजित तरीके से करनी होगी। जिससे शार्ट सर्किट, लूज तार आदि की समस्या न हो। कलेक्टर ने आपदा प्रबंधन कमान्डेंट को पर्व के दौरान अलर्ट रहने के निर्देश दिये। शांति समिति की बैठक में ईद-ए-मिलाद के दौरान भी शांति पूर्वक पर्व को मनाने के लिए चर्चा हुई। इस दौरान शांतिपूर्वक जुलूस संचालन की जिम्मेदारी संबंधित आयोजन समिति की होगी। बैठक में नगर निगम के अधिकारियों को पर्वो के दौरान आवश्यक साफ-सफाई एवं पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बैठक में पर्वो के दौरान समाज द्वारा धार्मिक झण्डे, बैनर, प्रतीक चिन्ह आदि का उपयोग भी सावधानी पूर्वक करने की अपील की गयी। झण्डे, बैनरो का उपयोग के पश्चात विधिपूर्वक निकालने की जिम्मेदारी संबंधित आयोजन समिति की होगी।    

Jitendra Dadsena

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button